हिन्दी
返回

लेख

首页

A+ A A-

返回

भारतीय नागरिक:भारत-चीन संबंध के स्वस्थ स्थिर विकास की प्रतीक्षा

2019-10-13 19:05:00

चीन और भारत के सहयोग की चर्चा में जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के अंतरराष्ट्रीय संबंध अनुसंधान संस्थान के प्रोफेसर स्वर्ण सिंह ने दूरगामी रणनीतिक दृष्टि से विश्लेषण करते हुए कहा कि भारत और चीन के प्रतिनिधित्व वाले नवोदित बाज़ार देशों का जोरदार विकास हो रहा है। वर्तमान दुनिया में बहुपक्षवादी अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था के सामने बड़ी चुनौती मौजूद है। ऐसी पृष्ठभूमि में भारत और चीन को विकास का ज्यादा मौका मिलेगा और सहयोग का दायरा और बड़ा होगा। प्रोफेसर स्वर्ण सिंह ने कहा:“बहुपक्षवाद की पुनर्व्याख्या और पुनर्गठन की पृष्ठभूमि में नवोदित आर्थिक समुदाय और देश बहुपक्षीय सहयोग व्यवस्था के नेतृत्व में भारी भूमिका निभा रहे हैं, जिनमें भारत और चीन सबसे महत्वपूर्ण हैं। भविष्य में दोनों देशों के बीच किस तरह से परस्पर सहयोग किया जाएगा, नीतियों को कैसे समन्वय किया जाएगा, इससे वैश्विक शासन और बहुपक्षवाद को फिर से परिभाषित करने पर बड़ा प्रभाव पड़ेगा।”

(श्याओ थांग)