हिन्दी
返回

लेख

首页

A+ A A-

返回

हांगकांग के बच्चों को अपनी दृष्टि का विस्तार करना चाहिये

2019-09-11 17:06:00

दोस्तों, हांगकांग के सियु सैइ वान में एक आधुनिक स्कूल स्थित है, जिस का नाम है चीनी कोष मिडिल स्कूल यानी सीएफ़एसएस। यहां संवाददाता ने भीतरी चीन में पहले चीनी व विदेशी संयुक्त पूंजी वाले उद्यम की संस्थापक वू शूछिंग के साथ इंटरव्यू लिया। चाहे सुश्री वू कितनी व्यस्त हैं, पर वे ज़रूर इंटरव्यू देने का स्थल यहां निश्चित करती हैं। क्योंकि इस स्कूल में उन की देशभक्ति बचपन से ही पैदा हुई थी। देश व हांगकांग के प्रति उन की भावना बहुत गहरी है। यहां उन्होंने हांगकांग के बच्चों से अपनी दृष्टि का विस्तार करने और सक्रिय रूप से देश के विकास में शामिल होने की अपील की।

इस स्कूल की ऊपरी मंजिल पर स्थित पुस्तकालय में विशेष तौर पर चीनी अंतरिक्ष के रॉकेट मोडल प्रदर्शित किये गए हैं। वू शूछिंग ने संवाददाता को बताया कि जब वे हांगकांग के स्कूल में पढ़ रही थी, तो शिक्षक ने तरह तरह की विविध कहानियों के माध्यम से देशभक्ति की भावना विद्यार्थियों के दिल में बसा दी। उस समय की शिक्षा ने उनके जीवन पर गहरी छाप छोड़ी। उन के अनुसार, प्राइमरी स्कूल से हमें पता चला कि देश की भूमि की रक्षा हमें अपने आप करनी चाहिये। दूसरों को इस पर कब्ज़ा करने की अनुमति नहीं दी जा सकती। साथ ही पाठ्यपुस्तकों ने भी सकारात्मक रूप से हमें यह बताया कि कैसे एक चीनी नागरिक बना जा सकता है? हमें अपने देश के लिये काम करना चाहिये। मिडिल स्कूल में पढ़ते समय हमने बहुत क्लासिक पुस्तकें और चीन के इतिहास से जुड़ी बहुत पुस्तकें पढ़ी। इसलिये स्कूल में हमने यह शिक्षा ली कि एक चीनी व्यक्ति के रूप में कौन सी कार्रवाई देशभक्तिपूर्ण है। मुझे लगता है कि उन सभी बातों का मुझ पर बड़ा असर पड़ा। यही कारण है कि मैंने हांगकांग में एक स्कूल की स्थापना की।

देशभक्ति का बीज बचपन से ही वू शूछिंग के मन में बोया हुआ है। बाद में उन का सपना यह था कि हांगकांग के युवाओं को व्यापक रूप से चीन के इतिहास व संस्कृति को समझना चाहिये, ताकि मातृभूमि के प्रति उन की पहचान व अपनेपन को मजबूत किया जा सके। इसलिये वर्ष 1998 के आरंभ में उन्होंने हांगकांग चीनी युवा इतिहास व संस्कृति शिक्षा कोष की स्थापना की। हर वर्ष वे हांगकांग के युवाओं का प्रबंध करके भीतरी चीन की यात्रा करती हैं। वर्ष 2000 में उन्होंने चीनी कोष मीडिल स्कूल की स्थापना की, जो हांगकांग के शिक्षा जगत में एक सकारात्मक मॉडल बन गया है।