हिन्दी
返回

लेख

首页

A+ A A-

返回

चीन और रूस के बीच व्यवहारिक सहयोग एक नए युग में पहुंचा

2019-10-14 09:05:00

17 सितंबर को चीनी प्रधान मंत्री ली खछ्यांग ने सेंट पीटर्सबर्ग में रूस के प्रधानमंत्री दिमित्री मेदवेदेव के साथ चीन और रूस के प्रधानमंत्रियों के बीच 24वीं नियमित भेंटवार्ता की अध्यक्षता की। भेंटवार्ता से पहले रूस की सरकार के अधिकारियों और रूस के विद्वानों ने कहा कि वर्तमान में दोनों देशों के बीच संबंध इतिहास में सबसे अच्छे चरण में हैं और ये नए युग में प्रवेश हुआ है। दोनों पक्षों के पास व्यापार पैमाने को आगे विस्तार करने की क्षमता है। दोनों पक्ष ऊर्जा, कृषि, उद्योग, एयरोस्पेस, परमाणु ऊर्जा आदि विभिन्न क्षेत्रों में व्यवहारिक सहयोग को आगे बढ़ाएंगे।

अब तक चीन रूस का सबसे बड़ा व्यापारिक भागीदार और महत्वपूर्ण विदेशी पूंजी का स्रोत देश बन गया है। व्यापार संरक्षणवाद और एकतरफावाद के विकास, आर्थिक वैश्वीकरण के सामने मौजूद चुनौतियों, वैश्विक आर्थिक विकास की कमी जैसे प्रतिकूल कारकों के प्रभाव का मुकाबला करने के लिए चीन और रूस हमेशा मज़बूत निश्चित शक्ति से दोनों देशों के बीच सर्वांगीण आपसी लाभ वाले सहयोग का विकास कर रहे हैं, विभिन्न क्षेत्रों में व्यवहारिक सहयोग को आगे बढ़ाने के लिए प्रयास कर रहे हैं।

2018 चीन और रूस के बीच व्यापार राशि पहली बार एक खरब अमेरिकी डॉलर तक पहुंच गई, जिसने एक नया ऐतिहासिक रिकॉर्ड बनाया है। इस वर्ष दोनों देशों के बीच व्यापार स्थिरता से आगे बढ़ रहा है। इस वर्ष के पिछले 7 महीनों में दोनों देशों के बीच व्यापार राशि 61 अरब 13 करोड़ अमेरिकी डॉलर रही, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि से 4.7 प्रतिशत अधिक रही। एक तरफ़, चीन में रूस से आयात कच्चे तेल, विद्युत उपकरण और उच्च तकनीकी उत्पादों की वृद्धि हुई है। दूसरी तरफ, कृषि उत्पादों, वित्त, तकनीकी सृजन और सीमा पार ई-कॉमर्स जैसे नवोदित क्षेत्रों में सहयोग तेज़ी से विकसित हो रहा है।